तेन्दूपत्ता 2024 संग्रहण दर 4 हजार रूपये प्रति बोरा हुई 35 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहकों को होगा लाभ वन विभाग ने जारी किये आदेश

मध्य प्रदेश में तेंदूपत्ता योजना को बहुत ही तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है और तेंदूपत्ता योजना में काम कर रहे गांव के लोगों के लिए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा कई तरह से लाभान्वित भी किया जा रहा है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 2023 के समय तेंदूपत्ता संग्रहण योजना में लाभान्वित लोगों के लिए और कपड़े जैसी सब्सिडी देने की कोशिश की गई और लाखों लोगों को इसका लाभ दिया गया। 2024 में मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव जी के द्वारा मध्य प्रदेश की जनता के लिए यह आश्वासन दिया गया है कि शिवराज सरकार के मुकाबले उनको अधिक से अधिक लाभ प्रदान किया जा सकता है।

लाखों लोगों को मिलेगा तेंदूपत्ता योजना का लाभ–

तेंदूपत्ता योजना को लगभग मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा 15 दिन के लिए शुरू किया जाता है मगर इन 15 दिनों में लाखों की संख्या में लोग तेंदू पत्ता के लिए काम करते हैं और कई तरह से मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा लाभ प्राप्त करते हैं ।

डॉ मोहन यादव ने बढ़ाई तेंदूपत्ता संग्रहण दर –

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा तेंदूपत्ता संग्रहण की दर को 3000 रखा गया था जिसे नए मुख्यमंत्री मोहन यादव जी के द्वारा 4000 रुपए प्रति बोरा कर दिया गया है । मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी के द्वारा जो भी चुनावी वादा किया गया था उसे पार्टी ने पूरा किया ।

विवरणमान
संग्रहण दर4 हजार रूपये प्रति बोरा
तेन्दूपत्ता संग्राहकों की मात्रा35 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहक
लाभ प्राप्तकर्ताओं की संख्या35 लाख
आदेश जारी करने वाले विभागवन विभाग

तेंदूपत्ता योजना में दिया जाएगा बोनस –

मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव जी के द्वारा 2024 में लगभग 300 करोड रुपए का बोनस दिया जाने का प्रावधान बनाया गया है जिसे 2024 में ही वितरित किया जाएगा । तेंदूपत्ता योजना के चलते जो भी संग्राहक तेंदूपत्ता योजना में शामिल होंगे उनको आर्थिक रूप से सहायता तो मिलेगी ही साथ में सरकार के द्वारा कई तरह से गिफ्ट के तौर पर चीजें भी प्रदान की जाएगी ।

तेंदूपत्ता 2024 की शुरुआत–

तेंदूपत्ता योजना को 2024 में अप्रैल महीने में शुरू किया जाएगा। सरकार के द्वारा 2024 में नई शर्तों के आधार पर तेंदूपत का संग्रहण की शुरुआत की जाएगी । तेंदूपत्ता योजना में वन विभाग द्वारा नई शर्तों को लागू किया गया है जिसमें उन्होंने बताया कि सभी को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।