नारी सम्मान योजना आवेदन से वंचित महिलाओं को मिली ख़ुशख़बरी Kamalnath ने कह दी बड़ी बात

नारी सम्मान योजना से अभी हाल ही में एक अपडेट निकलकर आया है जिसमें मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने यह दावा किया है कि जिन महिलाओं के आवेदन नारी सम्मान योजना में नहीं हो पाए हैं उनको घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है वह पूरी तरीके से समय रहते आवेदन कर पाएंगी और नारी सम्मान योजना का लाभ ले पाएंगी। आज के आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं नारी सम्मान योजना से क्या अपडेट निकलकर आई है और नारी सम्मान योजना की पहली किस्त कब दी जाएगी ।

नारी सम्मान योजना से संबंधित कांग्रेस कमेटी ने जारी किया पत्र–

हाल ही में कांग्रेस कमेटी के द्वारा नारी सम्मान योजना से संबंधित एक पत्र जारी किया गया है जिसमें यह बताया गया है कि जिन महिलाओं ने अभी तक नारी सम्मान योजना का आवेदन नहीं किया है उनको घबराने की बिल्कुल भी दिक्कत नहीं है 1 जनवरी 2024 से पहले सभी महिलाओं के आवेदन हो पाएंगे और 1 जनवरी 2024 को इस योजना से संबंधित राशि भी प्रदान कर दी जाएगी ।

शिवराज सरकार की योजना की लाभान्वित महिलाओं को भी कमलनाथ सरकार देगी ₹1500 –

कमलनाथ सरकार के द्वारा मध्य प्रदेश की जनता को यह आश्वासन दिया गया है कि ऐसी महिलाएं जो शिवराज सरकार की योजनाओं का लाभ ले रही हैं और नारी सम्मान योजना के आवेदन से वंचित हैं उनके लिए एक सुनहरा अवसर है कि वे सभी शर्तों के आधार पर अपना आवेदन कर लें और इस योजना का लाभ उठाएं ।

नारी सम्मान योजना ने सिलेंडर की कीमत में की कटौती–

पिछले दो-तीन सालों में रसोई गैस के दाम इतनी तेजी से ऊपर उठ की आम जनता को यह बहुत ही महंगा लगने लगा क्योंकि एक समय रसोई गैस की कीमत₹350 पर सिलेंडर हुआ करती थी लेकिन आगे चलकर 2014 के बाद इसकी कीमत में बढ़ोतरी हुई और यह कीमत 2022 तक आते-आते 1150 रुपए तक पहुंच गई और इसी समय देश में भाजपा की सरकार रही है। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले 2023 में कांग्रेस सरकार ने सिलेंडर की कीमत में कटौती की और मध्य प्रदेश की जनता को 450 रुपए में रसोई गैस उपलब्ध कराने का वादा किया है । कांग्रेस सरकार जिन राज्यों में है वहां पर सभी जगह लगभग ₹500 में रसोई गैस उपलब्ध हो रहा है जो आम जनता के लिए कोई बहुत ज्यादा महंगा नहीं है।

शिवराज सरकार की झूठी योजनाओं से मध्य प्रदेश डूबा कर्ज में–

मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा चुनाव 2023 से पहले कुछ इस प्रकार की योजनाओं का शुभारंभ किया जिसमें उनका लगभग 1000 करोड़ से अधिक का कर्ज लेना पड़ा जो की एमपी के लिए बहुत ही निंदनीय है बजट से कहीं ज्यादा एमपी के लिए खर्च होना एक संकट से कम नहीं है । इस प्रकार की योजनाओं को पूरा एमपी लॉलीपॉप वाली योजना बता रहा है एक तरफ जनता से पेट्रोल और रसोई गैस के इतने ज्यादा दाम लूट जाते हैं कि उनका जीवन यापन भी संकट में आ जाता है।