एक गलती से नारी सम्मान योजना के 60% आवेदन फार्म हुए रिजेक्ट

कमलनाथ सरकार के द्वारा जो नारी सम्मान योजना को शुरू किया गया उसमें 60% से कहीं ज्यादा महिलाओं के आवेदन रिजेक्ट हो गए हैं इसके कई कारण है कई महिलाओं ने पात्रता को ध्यान में ना रखते हुए आवेदन कर दिया और कई महिलाओं की डीबीटी नहीं हुई आज के आर्टिकल में हम जानने का प्रयास करेंगे कि वह कौन से कारण हैं जिस वजह से नारी सम्मान योजना के आवेदन रिजेक्ट हो चुके हैं। साथ ही यह जानेंगे कि जिन महिलाओं के फॉर्म रिजेक्ट हो चुके हैं वह कैसे दोबारा से आवेदन कर सकती हैं।

नारी सम्मान योजना के आवेदन की प्रक्रिया–

कई महिलाओं ने नारी सम्मान योजना की आवेदन प्रक्रिया को ध्यान में नहीं रखा जिस वजह से उनकी कुछ चीज आवेदन करते वक्त छूट गई जैसे मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक ना होना । आवेदन करने के बाद जैसे ही आवेदक को वेरीफाई किया गया तो उसमें पाया गया कि आधार कार्ड को मोबाइल नंबर से लिंक नहीं किया गया है तो आवेदन ऑटोमेटेकली रिजेक्ट हो गया ।

सरकारी पद से लाभान्वित होना–

जो महिलाएं सरकारी पद से लाभान्वित हैं और उन्होंने नारी सम्मान योजना के लिए आवेदन कर दिया इसके बाद उनके स्वत आवेदन रिजेक्ट हो गए क्योंकि सरकारी पद का लाभ लेते हुए आप नारी सम्मान योजना का लाभ नहीं ले सकते।

रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पर ध्यान ना देना–

रजिस्ट्रेशन करते समय अपने डॉक्यूमेंट से आवेदक को चेक न करना अथवा मिलन ना करना नारी सम्मान आवेदन रिजेक्ट होने का सबसे बड़ा कारण है । रजिस्ट्रेशन करने के बाद जो भी जानकारी आवेदन में भारी गई है यदि वह डॉक्यूमेंट से मिलना नहीं करती तो इस प्रकार के आवेदन रिजेक्ट कर दिए जाते हैं।

नारी सम्मान योजना की विशेषताएं–

  1. नारी सम्मान योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले मध्य प्रदेश की हर महिला को मूल निवासी होना अनिवार्य है यदि कोई महिला मध्यप्रदेश की है और कहीं अन्य राज्य का निवास प्रमाण पत्र हेतु किस प्रकार की महिलाओं को नारी सम्मान योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  2. नारी सम्मान योजना कांग्रेस सरकार की चलाई गई एक बहुत ही सफल योजना है क्योंकि यह महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार करेगी और उनके घरेलू खर्च में सहयोग प्रदान करेगी ।
  3. नारी सम्मान योजना का लाभ मध्यप्रदेश की हर महिला ले सकती है मगर वह किसी सरकारी पद से लाभान्वित नहीं होना चाहिए ।
  1. नारी सम्मान योजना का आवेदन करने के लिए हर महिला की उम्र 21 वर्ष से लेकर 60 वर्ष के अंतर्गत होना चाहिए 60 वर्ष से ज्यादा की महिलाओं को इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा क्योंकि उनको वृद्धा पेंशन योजना मिलती है ।
  2. नारी सम्मान योजना मध्य प्रदेश की पहली ऐसी योजना है जिसमें 100 यूनिट बिजली को पूरी तरीके से फ्री किया गया है और₹450 में गैस सिलेंडर दिए जाने का वादा किया है ।
  3. नारी सम्मान योजना शिवराज सरकार की चलाई गई योजना से कहीं बेहतर है क्योंकि शिवराज सरकार के द्वारा ₹1000 की राशि को प्रत्येक महिला के खाते में जमा किया जाता था वहीं दूसरी तरफ नारी सम्मान योजना के माध्यम से ₹2000 की राशि को हर महिला के खाते में जमा किया जा रहा है ।