नारी सम्मान योजना पहली किस्त का पैसा नहीं आया तो क्या करें ?

नारी सम्मान योजना का₹1500 प्रति महिला को दिया जाना मध्यप्रदेश के लिए बहुत ही गौरव की बात है क्योंकि इस योजना से एमपी की महिलाएं अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार कर पाएंगी और घरेलू खर्च में भी सहयोग ले पाएंगी। नारी सम्मान योजना की पहली किस्त 1 जनवरी 2024 को आने वाली है इसीलिए किसी भी कैंडिडेट को घबराने की आवश्यकता नहीं है जिनका पैसा नहीं आएगा उनका भी आ जाएगा लेकिन थोड़ा लेट आ सकता है ।

नारी सम्मान योजना की पहली किस्त आने की तारीख हुई घोषित –

कमलनाथ सरकार के द्वारा नारी सम्मान योजना की पहली किस्त जमा करने की तारीख 1 जनवरी 2024 को रखी है ताकि नए साल के उपलक्ष में नया गिफ्ट मध्य प्रदेश की महिलाओं को मिल जाए । नारी सम्मान योजना कमलनाथ सरकार की वही योजना है जिसके माध्यम से पूरे प्रदेश में सरकार बनाने जा रही है केवल एक योजना जिसने पूरे एमपी को प्रभावित करके रख दिया ।

एमपी में नारी सम्मान योजना का असर–

पूरे मध्य प्रदेश में नारी सम्मान योजना का एक अलग ही रंग चढ़ा हुआ है क्योंकि एमपी की सभी महिलाएं इस योजना की काफी तारीफ कर रही हैं क्योंकि शिवराज सरकार से कहीं ज्यादा पैसा उनको इस योजना से मिल रहा है। नारी सम्मान योजना का असर पूरे मध्य प्रदेश में कुछ इस तरह से फैला की विधानसभा चुनाव को भी प्रभावित करके रख दिया । पूरे प्रदेश में इस बार एक योजना ने इस तरह कहर मचाया की जैसे इस बार कांग्रेस की लहर दौड़ गई हो ।

सरकार बनते ही प्रक्रिया होगी चालू–

मध्य प्रदेश में 3 दिसंबर 2023 को विधानसभा चुनाव के परिणाम आना तय किया गया है इसके बाद नारी सम्मान योजना की ऑनलाइन प्रक्रिया को शुरू कर दिया जाएगा गांव-गांव शहर शहर इसके कैंप लगाए जाएंगे और लोगों को जागरूक करके इसका आवेदन किया जाएगा । यदि प्रदेश में 3 दिसंबर 2023 को आए परिणामों में कांग्रेस सरकार को पीछे हटना पड़ा अथवा कांग्रेस की सरकार नहीं बनी तो इस योजना के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता हो सकता है आगे जाकर इस योजना को बंद कर दिया जाए और यह भी हो सकता है कि इस योजना को आगे बढ़ाया जाए ।

नारी सम्मान योजना से कमलनाथ सरकार को हुआ लाभ–

जहां एक तरफ नारी सम्मान योजना से मध्य प्रदेश के परिवारों को लाभ होता है अथवा महिलाओं को ₹1500 की आर्थिक सहायता प्रति महीने इस योजना के द्वारा मिलती है । वहीं दूसरी तरफ इस योजना को शुरू करने के बाद कमलनाथ सरकार को भी अपने चुनावी दौर में लाभ हो गया क्योंकि इस बार इस योजना की बदौलत लोगों का झुकाव और समर्पण कांग्रेस पार्टी की तरफ रहा है । आशा है कि 3 दिसंबर 2023 को विधानसभा चुनाव के परिणाम कांग्रेस के पक्ष में ही जाएंगे ।