मोहन यादव देंगे राम मंदिर निर्माण के उपलक्ष में लाडली बहनों को गिफ्ट

नमस्कार दोस्तों जैसा कि आपको पता है कि 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम पूर्ण हो जाएगा और रामलालाजू स्थापित हो जाएंगे। राम मंदिर निर्माण और भगवान राम की मूर्ति स्थापना के इस पावन अवसर पर देशभर में खुशी का माहौल है।

योगी सरकार राम मंदिर बनने को उपलक्ष्य में उत्तर प्रदेश की जनता को कई उपहार देने वाली है। उत्तर प्रदेश सरकार की तर्ज पर मध्य प्रदेश की मोहन यादव सरकार भी मध्य प्रदेश की योजनाओं में राम मंदिर बनने के उपलक्ष में उपहार देने की तैयारी में है।

मध्य प्रदेश में अभी हाल ही में मोहन यादव सरकार द्वारा 10 जनवरी को आठवीं किस्त के रूप में लाडली बहनों को 1576 करोड़ की राशि वितरित की गई साथ ही साथ 360 करोड़ के लगभग की राशि वृद्धावस्था पेंशन के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान की गई। ‌

राम मंदिर बनने के उपलक्ष्य में एवं मकर संक्रांति के उपलक्ष में मध्य प्रदेश की लाडली बहनों को तीन उपहार मिलने की पूरी पूरी संभावना है।

  • पहले उपहार में लाडली बहना योजना के अंतर्गत मिलने वाली ₹1250 की किस्त को ₹1500 प्रति माह कर दिया जा सकता है।
  • दूसरे उपहार की बात करें तो लाडली आवास योजना के अंतर्गत आवास की सूची जारी की जा सकती है।
  • तीसरी उपहार की बात करें तो लाडली बहना योजना के अंतर्गत पहले और दूसरे राउंड में जिन लाडली बहनों के फॉर्म नहीं भरे हैं उनके लिए थर्ड राउंड की घोषणा मोहन यादव सरकार द्वारा की जा सकती है ताकि छूट गई लाडली बहने तीसरे राउंड में अपना फॉर्म भर के लाड़ली बहना योजना का लाभ ले सकें।

हालांकि लाडली बहनों को जैसे ही आठवीं किस्त मिली उनमें पात्र महिलाओं की संख्या को देखकर मध्य प्रदेश में सवाल उठने पैदा हो गए क्योंकि शिवराज सिंह चौहान द्वारा जब सातवीं किस्त जारी की गई थी तब लाडली बहनों की संख्या थी 1.31 करोड़ लेकिन जब मोहन यादव सरकार द्वारा आठवीं किस्त जारी की गई 10 जनवरी को तो लाडली बहनों की संख्या है 1.29 करोड़ तो इस पर भी राजनीति तेज हुई हालांकि मोहन यादव ने इसका जवाब भी दिया कि उम्र के कारण 1.78 लाख लाडली बहने 59 साल की उम्र से अधिक हो चुके हैं जिसके कारण उन लाडली बहनों को योजना से बाहर कर दिया गया इसीलिए पात्र महिलाओं की संख्या इतनी घट गई है।

इस खबरों को भी पढ़ें-