मोहन यादव सरकार पशुपालन पर दे रही 2 लाख लोन, ऐसे करें आवेदन ब्रेकिंग न्यूज

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा एमपी के हर परिवार के लिए ₹2 लाख तक की लोन की व्यवस्था की जा रही है ताकि पशुपालन करके मध्य प्रदेश का कोई भी परिवार स्वयं अपना पारिवारिक खर्च चल सके और एक तरह से आर्थिक रूप में उसकी मदद हो सके। पशुपालन के माध्यम से केवल भैंसी नहीं बल्कि गए और बकरी पालन के लिए भी एमपी सरकार का अथक प्रयास है और इसके लिए कई तरह की प्रशिक्षण की व्यवस्था भी सरकार के द्वारा की गई है । आज की इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि डॉक्टर मोहन यादव के द्वारा कौन-कौन सी योजनाओं के लिए पशुपालन के माध्यम से एमपी के हर परिवार को कितना लोन दिया जा रहा है ।

पशुपालन के लिए लोन कैसे मिलेगा?

पशुपालन के अंतर्गत लगभग एक गाय के लिए ₹40000 लोन दिया जाता है इसके अलावा अगर अन्य अधिक गए रखना चाहता है कोई पशुपालक तो उसके हिसाब से उसके लोन में बढ़ोतरी कर दी जाती है लेकिन लगभग यह लोन ₹400000 तक ही बढ़ाया जा सकता है इसके अलावा अधिक बढ़ने के लिए आपके पास कुछ अधिक पत्रताएं भी होना आवश्यक है ।

एक भैंस के लिए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा ₹80000 लोन दिया जाता है अगर कोई पशुपालक चार भैंस पालना चाहता है तो उसी के हिसाब से 320000 का लोन मिल सकता है।

अगर कोई पशुपालक बकरी पालन चाहता है तो उनके लिए ₹4000 तक का लोन एक बकरी के लिए दिया जाता है और अगर अधिक बकरियां पालना चाहता है तो इसके लिए लगभग ₹300000 तक का लोन सरकार के द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा ।

पशुपालन के लिए लोन का आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले अपनी पंचायत के रोजगार सहायक से संपर्क करना होगा और अपने पंचायत के सरपंच सेक्रेटरी आदि से संपर्क करेंगे तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं ।

पशुपालन पास करवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज–

पशुपालन के लिए आवश्यक दस्तावेज में आधार कार्ड पैन कार्ड और बैंक पासबुक जो की डीबीटीसे संपूर्ण हो समग्र आईडी में और आधार कार्ड में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं होना चाहिए अगर कोई भी दिक्कत जाती है तो उसकी जिम्मेदार स्वयम उम्मीदवार रहते हैं । आधार कार्ड में मोबाइल नंबर लिंक होना चाहिए और वही मोबाइल नंबर बैंक पासबुक में भी होना चाहिए। याद रहे पशुपालक के पास सबसे पहली प्राथमिकता है कि लगभग एक एकड़ जमीन होना अनिवार्य है अगर एक एकड़ जमीन नहीं है तो इस तरह की योजना का लाभ लेना असंभव है ।

पशुपालन में मिलने वाला लोन कितना माफ हो जाता है?

पशुपालन के अंतर्गत जब सरकार के द्वारा लोन दिया जाता है तो लगभग ₹100000 तक का लोन माफ हो जाता है अगर किसी पशुपालक ने चार लाख लोन निकाल रखा है तो । लोन माफ होने में लगभग 1 साल का वक्त रहता है और 1 साल के अंतर्गत ही लगभग चार लाख पर 100000 लोन माफ कर दिया जाता है बाकी के तीन लाख उम्मीदवार को जमा करने पड़ते हैं ।

किस बैंक से मिलेगा पशुपालन के लिए लोन?

पशुपालन के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने किसी भी बैंक को लोन देने के लिए पात्र माना है बशर्ते लोन देने के लिए बैंक की भी कुछ शर्तें मान्य होना चाहिए । किस बैंक से लोन मिलेगा यह बैंक का खुद तय करती है अगर बैंक के पास बजट होगा तो वह लोन दे सकती है लेकिन सबसे ज्यादा लोन देने में स्टेट बैंक आफ इंडिया आगे है इसके अलावा अन्य बैंक के माध्यम से भी लोन मिल जाता है।

पशुपालन लोन के लिए पात्रता–

पशुपालन का लाभ लेने के लिए इच्छुक उम्मीदवार की उम्र 18 वर्ष से अधिक होना चाहिए अर्थात वह भारत का नागरिक होना चाहिए इसके अलावा उसके पास लगभग एक एकड़ जमीन उपलब्ध होना चाहिए। मध्य प्रदेश का वही परिवार पशुपालन का लाभ ले सकता है जिसके पास यह सारी पत्रताएं हैं अगर उम्मीदवार के पास जमीन नहीं है तो उसको इस योजना का लाभ लेने में कठिनाई जा सकती है।