महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना 2024 मध्य प्रदेश, दूसरे लोगों के खाते में पैसे डालकर किया जा रहा घोटाला

महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत 2005 के अनुसार जो 90 दिन का रोजगार दिया जाता था उसी को आगे बढ़ाया गया है जिसे अब महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना 2024 के नाम से जाना जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत कई तरह से फ्रॉड गिरी की जा रही है इसी के बारे में आज हम चर्चा करने वाले हैं क्योंकि दूसरे लोगों के खाते में पैसे डालकर बहुत बड़ा घोटाला हो रहा है ।

महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना–

मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव जी के द्वारा इस योजना के लिए आश्वासन दिए गए हैं कि सभी को रोजगार दिया जाएगा लेकिन छोटे लेवल पर गांव के असहाय और अनपढ़ लोगों को सिस्टम के ही लोग बेवकूफ बनाने का प्रयास कर रहे हैं। कई तरह से लोगों के खाते में पैसे आने के बाद झांसा देकर उनके अकाउंट से पैसे उड़ा देते हैं जो की सरकार के होते हैं ।

सरकारी पैसे को किसी एक ऐसे अकाउंट में डालकर निकाल कर खाया जा रहा है जो सभी का पैसा है जिस पर कोई कार्रवाई नहीं होती और ना ही कोई सवाल होता है ।

घोटाले की शिकायत–

किसी भी सरकारी योजना से संबंधित घोटाली की शिकायत आप मुख्यमंत्री सहायता कांटेक्ट 181 पर संपर्क कर सकते हैं। 181 पर कॉल करने के बाद आपकी समस्या का समाधान किया जाएगा और आपकी जो भी शिकायत होगी वह दर्ज हो जाएगी ऑनलाइन तरीके से इसके बाद पूरी प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा और निराकरण किया जाएगा।

2024 के रोजगार के अवसर–

2024 की शुरुआती साल में मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के द्वारा कई तरह के रोजगार के अवसर को शुरू करने के आश्वासन दिए गए हैं। नए मुख्यमंत्री मोहन यादव जी के द्वारा मध्य प्रदेश के गरीब परिवारों के लिए और बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराना उनका पहला कर्तव्य बन गया है। डॉ मोहन यादव के पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा कई बार कोशिश की गई और रोजगार के नए अवसर दिलाने का प्रयास भी किया गया मगर मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना जैसी योजनाओं के लिए रजिस्ट्रेशन तो हो गया मगर इसके लिए कोई भर्ती नहीं हुई।