ड्रोन सखी नई भर्ती 2024 स्व सहायता समूह वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन सैलरी 9000 रुपए

स्वयं सहायता समूह में एक नई भर्ती का ऐलान किया गया है और यह ऐलान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से किया गया है जिन्होंने यह दावा किया है कि गांव स्तर पर महिलाओं को ड्रोन सखी के पद पर तैनात किया जाएगा और इनको ट्रेनिंग भी प्रदान की जाएगी जिसके माध्यम से कृषि कार्यों में नई गतिविधि को लागू किया जाएगा । प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा यह आश्वासन दिया गया है कि ड्रोन सखी को कृषि कार्यों में नई तकनीकी सिखाई जाएगी जिसमें खाद का छिड़काव और दवाई का छिड़काव किस तरीके से किया जाता है इसके बारे में किसानों को ट्रेनिंग देनी होगी । महिलाओं को ड्रोन उड़ाना सिखाया जाएगा और इसे किस तरीके से ऑपरेट करना है इसके बारे में सारी चीज सिखाई जायेंगी।

ड्रोन सखी के लिए कैसे करें आवेदन –

ड्रोन सखी के पद पर आवेदन करने के लिए स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के द्वारा इसकी जानकारी को लिया जा सकता है और राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत इसका आवेदन कंप्लीट किया जाएगा। ड्रोन सखी के पदों पर लगभग 10 से 15 गांव में महिलाओं को इसका कार्य सौंपा जाएगा और इसमें सबसे पहले महिलाओं को कृषि कार्यों में उन्नत तकनीकी के माध्यम से ड्रोन उड़ने जैसी नई तकनीक को सिखाया जाएगा और उसी के आधार पर ड्रोन के माध्यम से खाद का छिड़काव और दवाई का छिड़काव किस तरीके से किया जाएगा इसके बारे में सिखाया जाएगा ।

ड्रोन सखी के पद पर आवेदन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट –

ड्रोन सखी के पद पर आवेदन करने के लिए सबसे पहले किसी महिला को स्वयं सहायता समूह से जुड़ना होगा क्योंकि स्वयं सहायता समूह की किसी महिला को ही जो उसकी सदस्य बन चुकी होगी उसको आवेदन करने की पहली प्राथमिकता दी जाएगी ।

ड्रोन सखी की सैलरी–

पदसखी की सैलरी (प्रति महीना)संशोधित सैलरी (प्रति महीना)
ड्रोन सखी900015000

ड्रोन सखी के पद पर तैनात महिला की सैलरी 9000 प्रति महीना है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा इसकी सैलरी को 15000 प्रति महीने किया जा सकता है क्योंकि स्वयं प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा आश्वासन दिया गया है कि स्वयं सहायता समूह के अंतर्गत आने वाले सदस्यों के लिए मौका है जिनको ड्रोन सखी के पद पर तैनात किया जाएगा।

एक पंचायत में कितनी ड्रोन सखी के लिए आवेदन किया जा सकता है?

क्रमांककार्यविवरण
1ड्रोन को चलना सीखनापहला कार्य होगा कि ड्रोन को सही तरीके से चलाना।
2प्रशिक्षण प्राप्त करनासखी को ड्रोन चलाने के लिए उच्च-स्तरीय प्रशिक्षण दिया जाएगा।
3ड्रोन उड़ाना सीखनासखी को ड्रोन को उड़ाना सीखने का मौका मिलेगा।
4पायलट की भूमिका में चलानासखी को एक पायलट की भूमिका में ड्रोन को चलाना सिखाया जाएगा।
5दवाई और खाद का छिड़कावसखी को ड्रोन के द्वारा दवाई और खाद का छिड़काव करना सीखाया जाएगा।

एक पंचायत में केवल एक ड्रोन सखी को चयनित किया जाएगा आवेदन करने के लिए अन्य महिलाएं भी आवेदन कर सकती हैं लेकिन उन सभी को अपनी योग्यता के अनुसार ड्रोन सखी के पद पर चयनित करने के लिए चुना जाएगा । धीरे-धीरे जैसे ही ड्रोन सखी के पद पर प्रशिक्षण को बढ़ावा मिलेगा तो कुल मिलाकर एक जिले में लगभग 100 ड्रोन सखियां कार्यरत रहेंगी।